Learn Everything About Tally

Tally और GST में इंटरेस्ट की एंट्री कैसे करें?

Tally और GST में इंटरेस्ट की एंट्री कैसे करें?

दोस्तों, आज हम बात करेंगे की Tally और GSTR 3B में इंटरेस्ट को कैसे दिखाएं | जैसा की आप जानते है की यदि आप गलत इनपुट क्रेडिट ले लेते है या फिर टैक्स पेमेंट करने में देरी करते है तो आपको सरकार को इंटरेस्ट देना होगा | और इस केस में यदि आप टैक्स के साथ इंटरेस्ट की भी पेमेंट करते है तो सारा अमाउंट आपके कॅश ledger में दिखाई देगा और वो तब तक दिखेगा जब तक की आप इंटरेस्ट को GSTR  3B  में ठीक तरीके से नहीं दिखा देते है |अक्सर एकाउंटेंट्स और CA GSTR  3B  रिटर्न भरते  समय इस बात का ध्यान नहीं देते की इंटरेस्ट को कहाँ और किस कॉलम में दिखाना होता है जिसके लिए आप पेमेंट कर रहे है | अगर आप इंटरेस्ट को सही जगह पर नहीं दिखते तो वो आपके कॅश ledger में हमेशा दिखाई देगा और GST डिपार्टमेंट इसके  लिए आपको नोटिस भी दे सकता है क्यूंकि आपने इंटरेस्ट का पेमेंट तो किया लेकिन उसे setoff  नहीं किया |

पेमेंट के बाद इंटरेस्ट आपके कॅश लेड़गेर में कुछ इस तरह से दिखाई देगा जिसके लिए आपको GST में लॉगिन करके Services - Ledgers - Electronic Cash Ledger में जाना होगा| 


अब आप इलेक्ट्रॉनिक कॅश ledger को एक्सेल में डाउनलोड कर लीजिये| Electronic  कॅश ledger में आप देखेंगे की इंटरेस्ट अलग से दिखाई देगा कुछ इस तरह:


और यह अमाउंट तब तक दिखेगा जब तक आप इसको GSTR 3B में सही स्थान पर नहीं दिखा देते है| लेकिन उससे पहले हम इंटरेस्ट की liability अपनी tally की बुक्स में कैसे दिखाएं इसके बारे में जान लेते है | 

इंटरेस्ट दिखने के लिए आपको सबसे पहले इंटरेस्ट का ledger बनाना होगा जिसकी grouping एक्सपेंसेस indirect में होगी और एक और ledger इंटरेस्ट पेयबल बनाना होगा जो current liabilities के अंडर ग्रुप होगा | 

अब आप जर्नल एंट्री पास करेंगे | और जर्नल एंट्री करते हुए आपको Ctrl + J का बटन दबाना होगा| और नीचे दी गयी पिक्चर के अनुसार इंटरेस्ट की सेटिंग दिखानी होगी | 


Stat adjustment के बाद आपको Dr. में Interest Paid on GST वाला ledger सेलेक्ट करना है और क्रेडिट में GST Payable वाला ledger सेलेक्ट करना है | यदि आप CGST, SGST और IGST के इंटरेस्ट ledger की अलग अलग डिटेल्स अपनी बुक्स में चाहते है तो आपको अलग अलग legder बनाने होंगे जैसा की नीचे फोटो में दिखाया गया है |  हमने IGST का अलग ledger बनाया है| अलग अलग लेड़गेर बनाने से आप उसी टैक्स लायबिलिटी को दिखा सकते है जिसके लिए आपने इंटरेस्ट पे किया है | 


 अब आप अपनी GSTR 3B में जाके देखेंगे की वहां पर इंटरेस्ट की अमाउंट शो उसी टैक्स के अंदर शो कर रही होगी जिसके  लिए आपने टैक्स की पेमेंट की होगी | ऊपर image में हमने IGST दिखाया है तो हमें interest में IGST ही शो करेगा 


अब आपको GSTR 3B को json फॉर्मेट में एक्सपोर्ट करना है और अपने GST login में जाकर जिस महीने की रिटर्न भरनी है उस महीने में json फाइल को upload कर देंगे | 

आपको बता दें की इंटरेस्ट का कॉलम आपको GSTR  3B  में कॉलम नंबर 5.1 में दिखाना होगा 


अगर आप टैली से json फाइल अपलोड करते है तो आपकी इंटरेस्ट की figure अपने आप fill हो जाएगी और रिटर्न भरते समय आपका इंटरेस्ट  का पेमेंट भी अपने आप setoff हो जायेगा | 

और ज़्यादा डिटेल जानने के लिए आप हमारा वीडियो देखें:


Share:

No comments:

Post a comment

No spam allowed ,please do not waste your time by posting unnecessary comment Like, ads of other site etc.

loading...